जैसी करनी वैसी भरनी

0

पंकज नाम के एक लड़के की शादी नहीं हो रही थी तो उसने अपना दिमाग़ लगाया और पूरे शहर में शोर मचा दिया कि उसके दो लंड है।

फटाफ़ट काफ़ी सारे रिश्ते आने लगे तो उसने एक खूबसूरत सी लड़की पसंद करके शादी कर ली और सुहागरात को पत्नी पूछती है कि आपका दूसरा लंड कहाँ है?

पंकज ने दिमाग़ लगाया और बोला कि दूसरा लंड पड़ोस वाले शर्मा जी ले गये है।

पत्नी ने भी कहा चल कोई बात नहीं और दोनो की आराम से ज़िंदगी बीतने लग गयी।

फिर कुछ दिनों के बाद पंकज को किसी काम से शहर से बाहर जाना पड़ा और तीन-चार दिन के बाद आता है तो बीवी उसके आते ही लड़ना शुरू कर देती है।

पंकज बेचारे को समझ नहीं आता और वो हैरान होकर पूछता है कि हुआ क्या है?

बीवी गुस्से से बोलती है : मैंने आप जैसा चूतिया दूसरा नहीं देखा।

पंकज के तोते उड़ गये और उसने पूछा : क्यों मैंने क्या किया?

बीवी : आपने छोटा वाला लंड अपने पास रख लिया और बड़ा वाला शर्मा जी को क्यों दिया?

Share.

Comments are closed.